“भाजपा भारत छोड़ो” ममता बनर्जी ने भरी हुंकार

आज से 75 साल पहले जब गांधीजी ने अंग्रेज़ों के ख़िलाफ़ भारत छोड़ो आंदोलन का ऐलान किया था तो उन्होंने भी ये नहीं सोचा होगा एक दिन एक आंदोलन भारत में भारतीय सरकार के ख़िलाफ़ होगा। राजनीतिक गलियारों से आ रही ख़बरों के मुताबिक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा सरकार के ख़िलाफ़ “भारत छोड़ो आंदोलन” की घोषणा कर दी है। ममता बनर्जी ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ की जयंती के मौके पर इस आंदोलन का बिगुल बजायेंगी। ‘भाजपा भारत छोड़ो’ नारे के साथ शुरू होने वाला ये तीन सप्ताह का आंदोलन 30 अगस्त तक चलेगा।

पहले से ही विपक्ष के तीखे हमले झेल रही भाजपा पर ये एक और तीखा प्रहार होगा। गौरतलब है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी जी के झंडे तले, ‘अबकी बार मोदी सरकार’ के सैलाब में जिस तरह विपक्ष मटियामेट हो गया था, ऐसा लगा था कम से कम अगले पांच साल तक सरकार की राह आसान रहेगी। पर हालिया घटनाक्रम के चलते सरकार की मुश्किलें कुछ बढ़ती हुई नज़र आ रही हैं। पाकिस्तान और चीन तो दशकों से भारत के गले की हड्डी बने ही हुए थे पर पिछले कुछ महीनों में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर तनाव कुछ ज्यादा ही बढ़ गया है। इसके अलावा दलित अत्याचार, मॉब लिंचिंग, किसान आत्महत्या आदि मुद्दों ने विपक्ष को हमले करने के लिए काफ़ी असला दे दिया है।

और इन सब के बीच मोदीजी की चुप्पी और उनके सिपे-सालारों का बड़बोलापन आग में घी का काम कर रहा है। इसके अलावा बढ़ती बेरोजगारी देश में असंतोष की भावना को और बढ़ा रही है और उसपर GST का पदार्पण। कुल मिलाकर भाजपा सरकार के लिए इस वक़्त स्थिति थोड़ी संवेदनशील चल रही है और ऐसा लगता नहीं ‘बातों के बताशे’ ज्यादा दिन तक जनता को बहला पाएंगे। खैर फिलहाल तो ये देखना अहम् होगा कि ममता का भाजपा छोड़ो आंदोलन कितनी भीड़ जुटा पाता है और 2019 के चुनाव में भाजपा के पैर उखाड़ने के लिए कितना भूमिका तैयार कर पाता है।

(Visited 84 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *